Refrigeration and air conditioning | Definition Classification Useful

What are refrigeration and air conditioning, definition, classification and how these are both used and how all these information are sufficient in this blog. In today’s era, refrigeration and air conditioning have become very useful.

रेफ्रीजरेसन और एयर कन्डिशनिंग क्या हैं, परिभाषा, वर्गीकरण और रेफ्रीजरेसन और एयर कन्डिशनिंग का इन्स्तेमाल कहा और केसे किया जाता हैं इन सबकी जानकारी इस ब्लॉग में पर्याप्त हैं। आज के युग में रेफ्रीजरेसन और एयर कन्डिशनिंग बहुत ही उपयोगी बन गया हैं।

Index

  1. 1. What is refrigeration and air conditioning?
  2. 2. Classification of refrigeration and air conditioning
  3. 3. Important definitions of refrigeration and air conditioning
    1. 3.1 Insulation requirement
    2. 3.2 What is a refrigerant?
  4. 4.Know about the development of refrigeration
  5. 5. Refrigeration units are explained
  6. 6. Know about air conditioning
  7. 7. Performance coefficient
  8. 8. Where is refrigeration used and how?
    1. 8.1Use of refrigeration in the industrial sector
    2. 8.2 Use of refrigeration in the food preservation sector
    3. 8.3 Use of refrigeration in the distribution of foods
    4. 8.4 Low temperature refrigeration
    5. 8.5 Unitary use
  9. 9. Classification of refrigeration system
    1. 9.1 Air refrigeration system
    2. 9.2 Vapor compression system
    3. 9.3 9.3 Absorption system
    4. 9.4 Steam jet system
    5. 9.5 Law temperature system
  10. 10. Where is air conditioning used and how?
    1. 10.1 Use of air conditioning in the industrial sector
    2. 10.2 Use of air conditioning in the comfort zone
    3. 10.3 Use of air conditioning in the field of medical and health

1. What is refrigeration and air conditioning?

Human is a creation of the God. Specific needs of human life are obtained from valuable things like air, water, as a gift everywhere. When some changes are not necessary enough due to some changes in the nature, then the man has to struggle something according to his own understanding and make his life comfortable by using the struggle as well as the tactics. Now the life of human beings has become independent and very slowly, in the 21st century, human beings will try to stay in space and move forward.

The laws of nature always change, they have no faith or we do not understand nature, due to which we have to suffer a lot of problems. According to different seasons, everything from winter, summer, fruits, flowers, monsoon and farming to vegetation is at the right time.

Humans should live in different seasons, but this happens, in the heat of water, the water of the drink gets heated, the food prepared also gets spoiled and due to the cold, the human body can also get sick from the cold. To avoid, i.e. to create an artificially comfortable environment, important topics like refrigeration and air conditioning have been formed.

For the development of pharmaceutical industry and textile industry, it has become useful to make the environment good. Due to political and social changes, people living in cold environment are forced to live in warm environment and people living in warm environment are forced to live in cold environment. To take the productivity of the machine forward, the machine operator could not get a favorable environment, that is, if they were to stay in a cold environment, then such an environment could not be found.

Examples: Use of air conditioning in electronics, big hospitals, maintenance, computers, airplanes, super trains, luxury hotels, big manufacturing companies like CPU manufacturing and data centers, super malls, food processing and transportation. Similarly, modern society Simultaneously it has become extremely important for industries.

The evolutionary story of the topic of refrigeration and air conditioning is very long. Here are some brief events on which you may please pay attention:

  • In countries like Denmark, the dairy industry was essential to India’s economy. India has moved ahead in the dairy industry since independence, and industrial refrigeration has been developing since then.

    Natural ice was difficult to store and transport, so artificial ice was used to make ice, and in 1834 an American engineer named Parkeens created a manual compressor, an ether liquid coolant. First designed the best vapor compression system. In the later period, the invention of compressor design, steam engine, electricity, refrigerator (fridge) etc. developed a large-scale mechanical refrigeration system.

  • The water kept in a porous earthen pot gets cold when it comes in contact with air and this method is still practiced in the general category of India. The theory of evaporative cooling was concluded by this process. The textile industry of Britain and India developed and maintaining good humidification was particularly necessary to maintain the productivity of this industry. Also, the pharmaceutical sector also saw a big boom in the 20th century. There was a need to maintain a proper environment for the manufacture and maintenance of medicines. Industrial Air Conditioning came into existence with major development of both these types of industries.
  • Good for producing cooling, the widespread use of natural ice found in rivers and lakes during the winter season dates back to the 18th century. When ice becomes water, latent heat is absorbed because of the effect of refrigeration, which was used in food storage and air conditioning. During this period, refrigeration developed well in western countries due to research on ice harvesting, its transport and its long-term storage during cold days.

2. Classification of refrigeration and air conditioning:

As a large industry of refrigeration and air conditioning, there has been so much development keeping in mind human needs. It is very important to know the classification of its utility. This classification is described below according to the different categories on which you should pay attention:

By food preservation category:
Commercial Refrigerator, Domestic Refrigerator, Marine Refrigeration and Transport Refrigeration.
By chemical/industrial refrigeration category:
Gas Operation, Petrochemical, Refinery and Fertilizer.
By Rest Air Conditioning Class:
Aircraft, railways, offices, shops, cinema halls, houses, cars etc.
By Industrial Air Conditioning Class:
Printing, textile, laboratory, computer center, toolroom, photography, etc.
By specific application category:
Medical, law temperature, construction etc.
According to usage class:
Air conditioning applicationRefrigeration application
(a) Rest(a) Food preservation
Surface Transport, School, Health Care, Home, Public Building, Retail Store, Airplane, Ships, Cinema HoleDairy, freezing, candy, fruit, meat, poultry, fish, beverages, eggs, bakery
(b) Industrial(b) Other
Photography, printing press, laboratory, textiles, clean specs, paper and wood, data processingBottle Cooler, Cryogenics, Things of Ice, Biomedical, Chemical Industry, Faking water, Refrigerators

3. Important definitions of refrigeration and air conditioning:

The following two definitions of refrigeration have been provided, so please read:

  1. The process of removing heat from the lowest temperature to the highest temperature is commonly called refrigeration.
  2. Refrigeration is a science that studies the temperature-reducing processes of a defined space or substance, which are in relative proximity to the atmosphere and absorbs the heat required to maintain the same temperature well.

In this way, it is more necessary to reduce the temperature of the same substance, out of which it is necessary to heat the substance with a higher temperature.

The rate at which heat is introduced from a refrigerated place to keep the temperature of the place or substance low is called the heat load. What this heat load is involved is described below:

  • The heat that comes out of the material kept or kept inside the place.
  • Heat coming from doors, windows and walls.
  • The heat generated by people, employees, lights etc. kept inside the place.

Definition of air conditioning:

When Humidity, air temperature, air hygiene, and air speed are controlled simultaneously, it is called air conditioning.

Similarly, air conditioner simultaneously regulates air speed, humidity, air temperature, air hygiene during summer, rain and winter seasons. The most commonly used air conditioner at home in your area is not a complete air conditioner as described in the definition above. For example split air conditioner or window air conditioner.

3.1 Insulation requirement:

It is necessary to separate this place from the external environment in order to reduce the transfer of heat within the place. Insulation is used for this. With the help of this, heat carrying can be reduced.

3.2 What is a refrigerant?

In the process of refrigeration, substances that absorb heat or are used as cooling agents can be called refrigerants.

4. Know about the development of refrigeration:

Refrigeration science has evolved slowly. Some of its development process is given below which you have to pay attention to:

  1. Ice refrigeration:The melting point of the ice is limited to 0°C and the temperature of the place from 8°C to 10°C. It is a basic useful process and its use is very limited at the moment.
  2. Low temperature produced by freezing mixer:In this process salt is added to the freezing mixer. Apart from salt, it is also possible to do this with the help of any other substance like calcium chloride. It is very easy to obtain a temperature of less than 0°C from a freezing mixer and it is quite possible to do this.
  3. Cooling by throttling:Plays an important role in the initial state of air. When the air is very throttled, its temperature decreases. As the pressure decreases, there is a basis for a decrease in temperature over it.
  4. Evaporation cooling: By immersing the finger in the ether, it gets cold from the exit, even the porous pot gets cold, all of you will know. When you convert the liquid from the secret heat of the liquid to air, then the air you generate is cold with the heat nearby. We all get cold cool air from evaporation cooler.

5. Refrigeration units are explained:

By the way these kilowatts are in kW, kJ / min or kJ / hr. The rate at which heat is removed from the refrigerated space is called refrigerating capacity. Long time ago, when mechanical refrigeration systems were not built, ice was used to obtain lower temperatures and to absorb heat. When the mechanical refrigeration system was invented it was only natural that its power unit should be compared to the heat absorbed power of ice. When ice melts 1 ton of ice a day which has the ability to absorb heat,

Refrigeration and air conditioning chpt-1 equ-1 eng

6. Know about air conditioning:

According to the definition already given, the atmospheric related factors of the place that have been determined, as with humidity, speed, purity and temperature, are as much process related sciences means air conditioning. It is also important to know that refrigeration and air conditioning work according to the second law of thermodynamics. Definition of Refrigeration and Air Conditioning For the internal relationship between these two and the comparison between the two, you have to do a complete study of figure 1 which are given below:

Refrigeration and air conditioning chpt-1 fig-1 eng

7. Performance coefficient:

In the refrigeration plant, only the performance coefficient can be used except for the term efficiency, there is no unit of performance coefficient. Please note below:

Refrigeration and air conditioning chpt-1 equ-2 eng

8. Where is refrigeration used and how?

8.1 Use of refrigeration in the industrial sector:

  • Chemical industry: In this chemical industry, refrigeration is also used to maintain the temperature required for the production of gum, cozy spaces and alcohols in the office, in many laboratories, and in temperature maintenance, and this is not common.
  • Ice making industry: Refrigeration is used to make ice. Ice is used in the Department of Transportation, the Chemical Department, and in dairy. Snow is also used in hokey playing in the snow. So in the same way, ice is used in large quantities in many places and in future, snow will be used according to the need.
  • Concrete Dam Industry: To improve the quality of concrete dams, it is very important to control the temperature and this is possible only through refrigeration.
  • Rubber industry: To keep the quality of different types of rubber and rubber properly, it becomes necessary to use refrigeration here.
  • Oil industry: Refrigeration is very much used to remove wax from oil.

8.2 Use of refrigeration in the food preservation sector:

Foods are bad because foods are mainly spoiled by biochemical processes. It is very important to remove the waste of this substance and if they are to be preserved for a long time, then stopping the growth of bacteria. And for this, the use of very low temperatures and refrigeration becomes more necessary, for a little clear understanding of it, pay attention to the following issue:

  • Dairy industry: To protect the dairy industry, care has to be taken, such as the milk produced from distant villages has to be brought to the dairy, then pasteurized the milk to a certain temperature in cold storage from 0.6 ° c to 4.4 ° c. Ice cream should be kept at -29°c to -26°c and callus butter to -18°c. and these are more necessary.
  • Fishery product: The proper temperature is 16°c to -1°c for preserving the fishery product properly.
  • Fruit and fruit juice: To preserve fruits and fruit juices, it is necessary to keep them at different temperatures, such as 0°c, 65% to 70% RH for onions, 0°c to -3°c, 90% to 95% RH for apples, -18°c to 1°c, 40% RH for candies, 7°c to 10°c, 65% to 90% RH for tomatoes and -18°c for bakery products and 3°c to 4°c, 90% to 95% RH for potatoes have to keep it at a temperature.
  • Freezing: If the substance has to be kept for a very long time, then the substance will have to be kept from -18°c to -35°c.
  • Poultry product: It should be maintained at 1°c to 2°c for ice chield, -18°c or even lower for frozen and -2°c for deep chilled as these are considered appropriate temperatures.
  • Meat product: -10°c is the right temperature to keep this product good.

8.3 Use of refrigeration in the distribution of foods:

The use of refrigeration in the distribution of foods has been described in common language. Transporting the prepared vegetable or any other food item from one place to another, that is, if it becomes very important to be distributed, then it has to be transported. To be transported by train, rail or sea or by airplane, the air temperature in it is determined by the material so that the food does not deteriorate and the refrigeration becomes very beneficial so that it can move well.

8.4 Low temperature refrigeration:

Currently liquid nitrogen is considered very cold, liquid nitrogen is used for space use as fuel. To obtain liquid nitrogen, air has to be liquefied only then it is possible to obtain liquid nitrogen. The science in which the temperature is obtained from -100°c to -273°c is called cryogenic. Typically, a steel requires very low temperatures to form the correct shape.

If the carbon dioxide gas is converted into a solid form by bringing it under low pressure, it is called dry ice. Dry ice is used to bring artificial rain and to maintain cool in the transport of substances such as ice cream.

8.5 Unitary use:

Display cabinets, walk-in coolers, refrigerators, water coolers, bottle coolers, etc. require refrigeration.

9. Classification of refrigeration system:

The refrigeration system is basically divided into five types which are described below. For more information about it, it becomes necessary to read advance books about it.

9.1 Air refrigeration system:

Air refrigeration systems are used in aircraft. It uses air as a refrigerant. The air is pressurized, cooled and expanded so that it cools and this cold air removes the load from the aircraft and maintains the required temperature.

9.2 Vapor compression system:

This system is widely used in commercial cycle. It consists of evaporation of refrigerant and simultaneous condensation, used to remove the required load from the place to be cooled or to generate cold.

9.3 Absorption system:

It is a heat powered system, the refrigerant used in it is absorbed simultaneously and has to be expelled by heating. It is a very quiet system with no moving parts, especially compressors. This system is very inexpensive where waste heat is easily obtained.

9.4 Steam jet system:

This system uses water as a refrigerant. The freezing required is achieved by evaporation of water. Compressors are not used in this system, but necessary pressure changes are achieved with the help of motive steam and diffuser.

9.5 Law temperature system:

Low-temperature systems are known as cryogenic systems. The cascade condenser is the common component in two systems with high temperature and low temperature to produce very low temperatures. It is functional as a condenser in a low temperature system and an evaporator in a high temperature system. Air liquefaction may also be used in such systems as the Jul Thomson valve.

10. Where is air conditioning used and how?:

10.1 Use of air conditioning in the industrial sector:

Air conditioning is used in industrial areas such as pharmaceuticals, laboratories, photo graphic studios, in the precision section, in textiles, in pharma animals, in the steel industry and in a brief discussion of printing plants. Please note below:

  1. Pharmaceuticals: Air conditioning in plants becomes very necessary to remove bacteria that come with air. To maintain the quality of pills and pills and gelatin capsules require very dry air, air conditioning is very necessary for that. Pills and pills should not be kept in the open. If kept in the open, they can also deteriorate and should not be used.
  2. laboratories: Air conditioning is used differently in different laboratories. Some laboratories also require air conditioning to monitor engine performance at a temperature of -60 ° c and at the same time it is also used for the well being of the workers so that it is easy to work and does not get heat. If more experiments are done in the laboratory, then more work can lead to fatigue, so even air conditioning becomes very necessary for that.
  3. Photographic products: If the raw photographic material deteriorates due to the maximum temperature and humidity, then the material used for film coating needs a certain temperature and this is possible by air conditioning i.e. the film is kept at a low humidity temperature It is very important to go.
  4. Precision portion: If the metal is to be saved from expansion or contraction, for this a constant temperature has to be made in the factory and for that air conditioning is necessary. Due to the clean air coming in, keeping a certain amount of moisture does not cause rust and reduces the amount of dust in the units.
  5. Textiles: In modern textiles, the plant runs very fast and hence the strength of the textiles is more important. Like paper, clothes are also very sensitive to moisture. It is very important to stop the production of static electricity and they are possible only through air conditioning.
  6. Pharma animal: If animals are kept in low temperature during the maximum summer, then the availability of milk and other items from them increases and they are possible with air conditioning.
  7. Steel texture: To improve the quality of the steel, it is very necessary to dry the air before entering the blast furnace, this also reduces the consumption of coal and it is possible to achieve all this by air conditioning.
  8. Printing: Moisture control is a very important part in the printing plant. In multicolored printing, it is very important to get a good print. If the moisture is not kept constant then the paper is not printed properly because the paper will shrink or become long and moisture also produces static electricity, then it becomes a big need to know.

10.2 Use of air conditioning in the comfort zone:

Its spread is very comprehensive. In which places its important uses have been given below:

  1. Restaurants: It has become compulsory in restaurants and theaters to have air conditioning in many such places existing time. Temperatures are kept in such a way that the time of day is different and the time of night or evening is favorable.
  2. Place of job: Equipment for banks, telephone exchanges, libraries, etc. Air conditioning is needed to keep books and books in proper place, ie for maintenance and also good for human. In all of these types of usage, comfort charts are used to determine the internal state that can give a person well.
  3. Place of residence: The sale of air conditioners for residences is increasing day by day. Those who are accustomed to air-conditioning in the office, they also get air-conditioned in the house to avoid the very heat of their comfort.
  4. Big buildings: Hotels, offices, hospitals etc. are air conditioned at this time and it has become a necessity.
  5. Transportation: The ships are also air-conditioned. Air conditioning has also become a necessity in airplanes. The widespread use of air conditioning in trains, railways, buses, etc. has now increased.
  6. Shop: If air conditioning is installed in the shop then the efficiency of the workers increases, the number of customers also increases and the speed of working the shopkeeper to spend more time in his shop also increases and the customer also at this time Willing to go to air-conditioned shop or large air-conditioned mall.

10.3 Use of air conditioning in the field of medical and health:

Refrigeration uses both. Cryosurgery is very popular for bloodless surgery. Low temperatures are required for eye surgery, cardiac surgery, etc. In modern surgery, air-conditioned operation theater is used to reduce the shock on the human body during the operation, so it recovers health quickly and causes no problems. Freezing is often necessary to prepare a sample in an electron microscope. Refrigeration is necessary to preserve the blood bank, eye bank and some parts of the human body obtained after or before death.


अनुक्रमणिका

  1. १. रेफ्रिजरेशन और एयर कन्डिशनिंग क्या हैं?
  2. २. रेफ्रिजरेशन और एयर कन्डिशनिंग का वर्गीकरण
  3. ३. रेफ्रिजरेशन और एयर कन्डिशनिंग की महत्वपूर्ण परिभाषाएँ
    1. ३.१ इन्सुलेशन की आवश्यकता
    2. ३.२ रेफ्रिजरन्ट क्या हैं?
  4. ४. रेफ्रिजरेशन का विकास के बारे में जानिए
  5. ५. रेफ्रिजरेशन का यूनिट के बारे में बताया हैं
  6. ६. एयर कन्डिशनिंग के बारे में जानिए
  7. ७. परफोर्मन्स का गुणांक
  8. ८. रेफ्रिजरेशन का इस्तेमाल कहा और कैसे होता हैं?
    1. ८.१ रेफ्रिजरेशन का औद्योगिक क्षेत्र में उपयोग
    2. ८.२ रेफ्रिजरेशन का खाद्य संरक्षण क्षेत्र में उपयोग
    3. ८.३ खाद्य पदार्थों का वितरण में रेफ्रिजरेशन का उपयोग
    4. ८.४ कम तापमान का रेफ्रिजरेशन
    5. ८.५ एकात्मक इस्तेमाल
  9. ९. रेफ्रिजरेशन प्रणाली का वर्गीकरण
    1. ९.१ एयर रेफ्रिजरेशन की प्रणाली
    2. ९.२ वेपर कम्प्रेशन की प्रणाली
    3. ९.३ ओब्सोर्प्शन की प्रणाली
    4. ९.४ स्टीमजेट की प्रणाली
    5. ९.५ लॉ टेम्परेचर की प्रणाली
  10. १०. एयर कंडीशनिंग का इस्तेमाल कहा और कैसे होता हैं?
    1. १०.१ औद्योगिक के क्षेत्र में एयर कंडीशनिंग का उपयोग
    2. १०.२ आराम के क्षेत्र में एयर कंडीशनिंग का उपयोग
    3. १०.३ चिकित्सा और स्वास्थ्य के क्षेत्र में एयर कंडीशनिंग का उपयोग

१. रेफ्रिजरेशन और एयर कन्डिशनिंग क्या हैं?:

भगवान जी ने मानवीय का सर्जन किया हैं। मानव के जीवन की विशिष्ट जरूरत हवा, पानी जैसी मूल्यवान चीज़े, as a gift हर जगह प्राप्त की हैं। जब प्रकृति में कुछ बदलाव आने से कुछ जरूरत हमे पर्याप्त नहीं होती तो मनुष्य को खुद की समझ के हिसाब से कुछ न कुछ संघर्ष करना पड़ता हैं और संघर्ष के साथ ही साथ युक्ति का भी इस्तेमाल कर के खुद का जीवन को आरामदायक बनाना पड़ता हैं। अभी मानवीय का जीवन स्वतंत्र बन गया हैं और बहुत धीरे से पाषण युग के मानवीय २१ वी सदी में अंतरिक्ष में रहने की कोशिश करेगा और आगे बढ़ता जायेगा।

प्रकृति के नियम हमेशा बदलाते रहते हैं उनका कोई भरोसा नहीं होता या फिर हम समझ नहीं पाते प्रकृति को जिसकी वजह से बहुत सारी परेशानी हमको भुगतनी पड़ती हैं। अलग अलग ऋतुओं के अनुसार ठंड, गर्मी, फल, पुष्प, बारिश और खेती से वनस्पति सब कुछ सही समय पर होता हैं।

मानवीय को अलग अलग ऋतुओं में रहना चाहिए परंतु एसा होता नहीं हे यानि की गर्मी में पिने का पानी गर्म हो जाता हैं, बनाया गया खाना भी बिगड़ जाता हैं और ठंडी की वजह से मानवीय शरीर को ठंड से बीमार भी पड सकता हैं इन सब परेशानी से बचने के लिए यानि की Artificially आरामदायक environment बनाने के लिए रेफ्रिजरेशन और एयर कन्डिशनिंग जैसे महत्वपूर्ण विषय का गठन किया गया है।

दवा उद्योग और कपड़ा उद्योग के विकास के लिए environment को अच्छे बनाने के लिए उपयोगी बन गया हैं। political और social परिवर्तनों से ठंडे वातावरण में रहने वाले लोगो को गर्म वातावरण में रहने के लिए और गर्म वातावरण में रहने वाले लोगो को ठंडे वातावरण में रहने के लिए मजबूर होना पड़ता हैं। मशीन की उत्पादकता आगे ले जाने के लिए मशीन ओपरेटर को अनुकूल वातावरण नहीं मिल पाता यानि की अगर उनकी ठंडे वातावरण में रहना हो तो एसा वातावरण नहीं मिल पाता।

उदाहरण: एयर कंडीशनिंग का इस्तेमाल इलेक्ट्रॉनिक्स, बड़े बड़े अस्पताल, रखरखाव, कोम्पुटर, हवाई जहाज, सुपर ट्रेन, लक्जरी होटल, बड़े बड़े मेन्युफेक्चरिंग कंपनिया जेसे की CPU मेन्युफेक्चरिंग और Data सेन्टर, सुपर मॉल, खाद्य प्रसंस्करण और परिवहन इसी प्रकार, आधुनिक समाज के साथ साथ उद्योगों के लिए भी अत्यंत आवश्यक हो गया है।

रेफ्रिजरेशन और एयर कन्डिशनिंग विषय की विकासवादी कहानी बहुत लंबी है। यहाँ कुछ संक्षिप्त घटनाएँ दी गई हैं जिस पे आप कृपया ध्यान दे:

  • डेनमार्क जैसे देशों में भारत की अर्थव्यवस्था के लिए डेयरी उद्योग बड़ा आवश्यक था। भारत देश आजादी के बाद डेयरी उद्योग में आगे बढ़ा है, और तभी से औद्योगिक रेफ्रिजरेशन का विकास हो चलता आ रहा हैं।

    प्राकृतिक बर्फ को स्टोर करना और परिवहन करना मुश्किल था, इसलिए कृत्रिम (Artificial ice) बर्फ यानि की कृत्रिम रूप से बनाया गया बर्फ बनाने के लिए प्रयोग किए गए थे और सन १८३४ में पारकीन्स नामक एक अमेरिकी इंजीनियर ने मैनुअल कंप्रेसर, एक ईथर तरल शीतलक का उपयोग करते हुए, पहले वाष्प कम्प्रेसन प्रणाली का सब से अच्छा डिजाइन किया था। बाद की अवधि में, कंप्रेसर डिजाइन, भाप इंजन, बिजली, रेफ्रिजरेटर(फ्रिज) आदि के आविष्कार ने बड़े पैमाने पर यांत्रिक Refrigeration system का विकास किया।

  • झरझरा मिट्टी के बर्तन में रखा हुआ पानी जब हवा के संपर्क में आता हे तब ठंडा हो जाता है और यह पद्धति आज भी भारत के सामान्य वर्ग में प्रचलित है। इस प्रक्रिया से बाष्पीकरणीय शीतलन का सिद्धांत का निष्कर्ष निकाला गया। ब्रिटेन और भारत का कपड़ा उद्योग विकसित हुआ और इस उद्योग की उत्पादकता बनाए रखने के लिए अच्छी आर्द्रीकरण को बनाए रखना विशेष रूप से जरुरी था। साथ ही २० वीं सदी में दवा क्षेत्र में भी बड़ी तेजी देखी गई। दवाओं के निर्माण और रखरखाव के लिए एक उचित वातावरण को बनाए रखने की लिए आवश्यकता थी। इन दोनों प्रकार के उद्योगों के बड़े विकास के साथ औद्योगिक एयर कन्डिशनिंग अस्तित्व में आया।
  • कुलिंग का उत्पादन करने के लिए अच्छा है, सर्दियों के मौसम के दौरान नदियाँ और झीलों में पाए जाने वाले प्राकृतिक बर्फ का व्यापक उपयोग १८ वीं सदी तक होता है। जब बर्फ पानी बन जाती है, तो गुप्त ऊष्मा अवशोषित हो जाती है क्यों की रेफ्रिजरेशन का प्रभाव होता है, जिसका उपयोग खाद्य भंडारण और एयर कन्डिशनिंग में किया गया था। इस अवधि के दौरान, पश्चिमी देशों में ठंड के दिनों में बर्फ की कटाई, इसके परिवहन और इसके दीर्घकालिक भंडारण पर शोध के कारण रेफ्रिजरेशन का अच्छा खासा विकास हुआ।

२. रेफ्रिजरेशन और एयर कन्डिशनिंग का वर्गीकरण:

रेफ्रिजरेशन और एयर कन्डिशनिंग के एक बड़े उद्योग के रूप में, मानव आवश्यकताओं को ध्यान में रखते हुए इतना विकास हुआ है। इसकी उपयोगिता के वर्गीकरण को जानना बहुत ही आवश्यक है। यह वर्गीकरण का नीचे अलग-अलग वर्गों के हिसाब से बताया गया है जिस पे आपको ध्यान देना चाहिए:

खाद्य संरक्षण वर्ग के हिसाब से:
कोमर्शियल रेफ्रीजरेटर, डोमेस्टीक रेफ्रीजरेटर, मरीन रेफ्रीजरेशन और ट्रान्सपोर्ट रेफ्रीजरेशन।
रासायनिक/औद्योगिक रेफ्रिजरेशन वर्ग के हिसाब से:
गेस सेपरेशन, पेट्रोकेमिकल, रिफाइनरी और फर्टिलाइझर।
आराम एयर कन्डिशनिंग वर्ग के हिसाब से:
विमान, रेलवे, कार्यालय, दुकानें, सिनेमा हॉल, घर, कार आदि।
औद्योगिक एयर कन्डिशनिंग वर्ग के हिसाब से:
प्रिंटिंग, टेक्षस्टाइल, प्रयोगशाला, कंप्यूटर सेंटर, टूलरूम, फोटोग्राफी आदि।
विशेष एप्प्लिकेशन वर्ग के हिसाब से:
मेडिकल, लॉ टेम्प्रेचर, कंस्ट्रक्शन आदि।
एप्लिकेशन(उपयोग) वर्ग के हिसाब से:
एयर कन्डिशनिंग एप्लिकेशनरेफ्रीजरेशन एप्लिकेशन
(a) आराम(a) खाद्य संरक्षण (food preservation)
सरफेस ट्रान्सपोर्ट, विद्यालय, हेल्थ केयर, घर, पब्लिक बिल्डिंग, रिटेइल स्टोर, हवाई जहाज, दरियाई जहाजों, सिनेमा होलडेयरी, फ्रीजिंग, कैंडी, फल, मांस, पोल्ट्री, मछलिया, बेवरेजीस, अंडे, बेकरी
(b) औद्योगिक(b) अन्य
फोटोग्राफी, प्रिंटिंग प्रेस, प्रयोगशाला, टेक्षटाइल, स्वच्छ स्पेसीझ, कागज और लकड़ी, डाटा प्रोसेसिंगबोतल का कुलर, क्रायोजिनिक, बर्फ की चीज़े, जैव चिकित्सा, रासायनिक उद्योग, फिकिंग वोटर, रेफ्रिजरेटर

३. रेफ्रिजरेशन और एयर कन्डिशनिंग की महत्वपूर्ण (important) परिभाषाएँ (definitions):

रेफ्रीजरेशन की निम्नलिखित दो परिभाषाएँ उपलब्ध की गई हैं तो कृपया आप पढ़े:

  1. सब से कम तापमान से अधिक तापमान तक गर्मी को हटाने की जो प्रक्रिया की जाती हे उनको सामान्य भाषा में रेफ्रीजरेशन कहा जाता है।
  2. रेफ्रिजरेशन एक ऐसा विज्ञान हैं जो किसी परिभाषित की हुई जगह या पदार्थ के तापमान को कम करने वाली प्रक्रियाओं का study करता है, जो नज़दीकी वातावरण के सापेक्ष में होता हैं और उसी तापमान को अच्छी तरह बनाये रखने के लिए आवश्यक ऊष्मा को अवशोषित करता हैं।

इस तरह करने के लिए वही पदार्थ के तापमान को कम करना अधिक आवश्यक होता हैं जिसमे से वह पदार्थ से ज्यादा तापमान वाला पदार्थ में गर्मी जाना जरूरी होता हैं।

एक Refrigerated place से, place या पदार्थ का तापमान कम रखने के लिए गर्मी का आना जाना जिस दर के तरीके से करना पड़े उसको हीट लोड कहा जाता हैं। यह हीट लोड क्या शामिल हैं वो निम्नलिखित बताया गया हैं:

  • जगह के भीतर रखे हुए या रखी हुई पदार्थ से जो निकलती हैं वो गर्मी।
  • दरवाज़े , खिड़कियों और दीवारों से आने जाने वाली गर्मी।
  • जगह के भीतर रखे हुए लोगों, कर्मचारियों, रोशनी आदि द्वारा उत्पन्न होती गर्मी।

एयर कन्डिशनिंग की परिभाषा:

जब हयुमिडिटि, हवा का तापमान, वायु स्वच्छता और वायु की गति को एक साथ नियंत्रित किया गया हो उसे एयर कन्डिशनिंग हुआ ऐसा कहा जाता हैं।

इसी प्रकार, एयर कंडीशनर एक साथ गर्मी, बारिश और सर्दी के मौसम के दौरान वायु की गति, आर्द्रता, हवा के तापमान, वायु स्वच्छता को नियंत्रित करता है। आपके क्षेत्र में घर पर अधिकतम उपयोग किया जाने वाला एयर कंडीशनर पूरा एयर कंडीशनर नहीं होता है जैसा कि ऊपर परिभाषा में बताया गया है। उदाहरण के तौर पर स्प्लिट एयर कंडीशनर या विंडो एयर कंडीशनर।

३.१ इन्सुलेशन की आवश्यकता:

यह जगह की भीतर की गर्मी का स्थानांतर बहुत ही कम करने के लिए इस जगह को बाहरी environment से अलग करने के लिए जरूरी हैं। इस लिए इन्सुलेशन का उपयोग होता हैं। इस की मदद से ऊष्मा वहन को कम किया जा सकता हैं।

३.२ रेफ्रिजरन्ट क्या हैं?

रेफ्रिजरेशन की प्रक्रिया में, वह पदार्थ जो गर्मी को अवशोषित करता हैं या कुलिंग एजेंट के रूप में इस्तेमाल किया जाता हैं उसको रेफ्रिजरन्ट कहा जा सकता हैं।

४. रेफ्रिजरेशन का विकास के बारे में जानिए:

रेफ्रिजरेशन विज्ञान का विकास धीरे-धीरे हुआ है। इसके विकास की कुछ प्रक्रिया नीचे दी गई है जिस पर आपको ध्यान देना हैं:

  1. बर्फ द्वारा मिलता रेफ्रिजरेशन: बर्फ का गलनांक 0°C और जगह का temperature 8°C से 10°C तक सीमित होता हैं। यह एक basic सी उपयोगी प्रक्रिया हैं और अभी इस का उपयोग बहुत ही सीमित हैं।
  2. फ्रिझिंग मिक्सर से उत्पन्न होता निम्न तापमान: इस प्रक्रिया में नमक (solt) को फ्रिझिंग मिक्सर में डाला जाता हैं। solt के आलावा किसी और पदार्थ जैसे की कैल्शियम क्लोराइड की मदद से भी ये कर पाना संभव हैं। फ्रिझिंग मिक्सर से 0°C से भी कम तापमान प्राप्त करना बहुत ही सरल होता हैं और ये कर पाना बिलकुल संभव हैं।
  3. थ्रॉटलिंग द्वारा मिलता कूलिंग: वायु (air) की प्रारंभिक अवस्था की महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं। जब की हवा (air) बहुत ही थ्रोटल होती हे तो इसका जो तापमान होता हैं वो कम हो जाता हैं। जैसे जैसे दबाव घटता जाता हैं तो उसके ऊपर तापमान में कमी का आधार होता हैं।
  4. वाष्पीकरण द्वारा मिलता कुलिंग: ईथर में उंगली को डुबा कर बाहर निकल ने से ठंड प्राप्त होती हैं, झरझरा मटके से भी ठंड प्राप्ति होती हैं वो आप सब को मालूम ही होगा। तरल (liquid) की गुप्त गर्मी से तरल को जब हवा में परिवर्तित करता हैं तब हवा आप पास की गर्मी को लेकर ठंड उत्पन्न करता हैं। वाष्पीकरण कुलर से हम सब को ठंडी ठंडी हवा मिलती हैं।

५. रेफ्रिजरेशन का यूनिट के बारे में बताया हैं:

वैसे ये किलोवाट kW, kJ/min या kJ/hr में होता हैं। जिस दर के हिसाब से प्रशीतित स्थान से गर्मी को दूर किया जाता हैं उसे रेफ्रिजरेटिंग क्षमता कहते हैं। बहुत समय पहले की बात हैं, जब यांत्रिक प्रशीतन प्रणाली का निर्माण नहीं किया था तो बर्फ का इस्तेमाल कम तापमान प्राप्त करने के लिए और गर्मी को अवशोषित करने के लिए किया जाता था। जब यांत्रिक प्रशीतन प्रणाली का आविष्कार किया था तो यह केवल प्राकृतिक हुआ करता था की इस की बिजली की इकाई की तुलना बर्फ की गर्मी अवशोषित शक्ति से की जानी चाहिए। जब बर्फ १ दिन में १ टन बर्फ पिगलती हैं जो गर्मी को अवशोषित करने की क्षमता रखती हैं,

Refrigeration and air conditioning chpt-1 equ-1 hin

६. एयर कन्डिशनिंग के बारे में जानिए:

पहले ही दी गई परिभाषा के अनुसार जिस स्थान को निर्धारित किया गया हैं उस स्थान का वायुमंडल संबंधित कारक, जैसे की नमी, गति, शुद्धता और तापमान के साथ में, जितनी चाहिए उतनी प्रक्रिया संबंधित विज्ञानं का मतलब हैं एयर कन्डिशनिंग। रेफ्रिजरेशन और एयर कन्डिशनिंग थर्मोडाईनॅमिक्स का दूसरा नियम के अनुसार कार्य करता हैं वो भी जानना जरूरी हैं। रेफ्रीजरेशन और एयर कन्डिशनिंग की परिभाषा इन दोनों का आतंरिक संबंध और दोनों के बीच की तुलना को सामान ने के लिए आपको आकृति 1 का पूरा अध्ययन करना पड़ेगा जो नीचे दी गई हैं:

Refrigeration and air conditioning chpt-1 fig-1 hin

७. परफोर्मन्स गुणांक:

रेफ्रिजरेशन प्लान्ट में कार्यदक्षता word के इलावा सिर्फ और सिर्फ परफोर्मन्स गुणांक का ही इस्तेमाल किया जा सकता हैं परफोर्मन्स गुणांक का कोई भी यूनिट होता नहीं हैं कृपया नीचे दिए गए पे ध्यान दे:

Refrigeration and air conditioning chpt-1 equ-2 hin

८. रेफ्रिजरेशन का इस्तेमाल कहा और कैसे होता हैं?:

८.१ रेफ्रिजरेशन का औद्योगिक क्षेत्र में उपयोग:

  • रासायनिक का उद्योग: इस रासायनिक उद्योग में, कार्यालय, कई सारी प्रयोगशाला में और तापमान रखरखाव में गोंद (gum), आरामदायक स्थल और अल्कोहोल के उत्पादन के लिए जरूरी तापमान को बनाये रखने के लिए भी रेफ्रिजरेशन का इस्तेमाल किया जाता हैं और ये कोई आम बात नहीं।
  • बर्फ बनाने का उद्योग: बर्फ बनाने के लिए प्रशीतन का इस्तेमाल किया जाता हैं। परिवहन विभाग, रासायनिक विभाग और डेयरी में बर्फ का इस्तेमाल होता हैं। बर्फ में खेले जाने वाली होकी में भी बर्फ का इस्तेमाल किया जाता हैं। तो इसी तरह बर्फ का इस्तेमाल कई जगह में बहुत मात्रा में होता रहता हैं और आगे भी बर्फ का जरुरत के हिसाब से इस्तेमाल होता जायेगा।
  • कंक्रीट डैम में उद्योग: कंक्रीट डैम की गुणवत्ता में सुधार लाने के लिए, तापमान को नियंत्रित करना बड़ा आवश्यक हो जाता हैं और यह केवल रेफ्रिजरेशन से ही possible हैं।
  • रबर का उद्योग: अलग अलग प्रकार के रबर और रबर की गुणवत्ता को सही तरीके से रखने के लिए रेफ्रिजरेशन का यहाँ इस्तेमाल करना आवश्यक बन जाता हैं।
  • तेल का बड़ा उद्योग: तेल में से मोम को हटाने के लिए रेफ्रिजरेशन का बहुत मूल्य उपयोग काफी होता हैं।

८.२ रेफ्रिजरेशन का खाद्य संरक्षण क्षेत्र में उपयोग:

खाद्य पदार्थ ख़राब होता हैं क्यों की खाद्य पदार्थ मुख्य रूप से जैव रासायनिक प्रक्रियाओं द्वारा ख़राब होता हैं। इस पदार्थ के बेकार पदार्थ को हटाना और अगर उन्हें लम्बे समय तक संरक्षित किया जाना हे तो बैक्टीरिया का होता हुआ विकास को भी रोकना बड़ा ही आवश्यक बन जाता हैं। और इस के लिए बहुत ही कम तापमान और रेफ्रिजरेशन का उपयोग अधिक आवश्यक बन जाता हैं, इसके बारे में थोडा स्पष्ट समझ ने के लिए नीचे दिए गए मुद्दे पे ध्यान दे:

  • डेयरी उद्योग: डेयरी उद्योग को संरक्षित रखने के लिए बहुत ध्यान रखना पड़ता हैं जैसे की दूर के गाव में से उत्पादित दूध को डेयरी में लाना पडता हैं फिर दूध को पास्चुरीकृत कर के कोल्ड स्टोरेज में एक निश्चित तापमान में 0.6°c से 4.4°c तक रखा जाता हैं। आइसक्रीम के लिए -29°c से -26°c और घट्ट मक्खन -18°c तक रखना चाहिए ये अधिक आवश्यक होता हैं।
  • फिशरी प्रोडक्ट: फिशरी प्रोडक्ट को सही तरीके से संरक्षित कर ने के लिए एक उचित तापमान 16°c से -1°c तक होता हैं।
  • फल और फल का रस: फल और फल के रस का संरक्षण करने के लिए अलग अलग तापमान में रखना पड़ता हैं जैसे की प्याज के लिए 0°c, 65% से 70% RH, सेब के लिए 0°c से -3°c, 90% से 95% RH, केन्डी के लिए -18°c से 1°c, 40% RH, टमाटर के लिए 7°c से 10°c और 65% से 90% RH, बेकरी प्रोडक्ट के लिए -18°c और आलू के लिए 3°c से 4°c और 90% से 95% RH इसे तापमान पर रखना होता हैं।
  • फ्रीझिंग: अगर पदार्थ को बहुत लम्बे समय (time) तक बनाये रखना हैं तो 18°c से -35°c तक पदार्थ को रखना पड़ेगा।
  • पोल्ट्री प्रोडक्ट: आइस चील्ड के लिए 1°c से 2°c, फ्रोझन के लिए -18°c या उनसे भी कम तापमान और डीप चील्ड के लिए -2°c तापमान में इसे बनाए रखा जाना चाहिए क्यों की ये उचित तापमान माना जाता हैं।
  • मांस प्रोडक्ट: इस प्रोडक्ट को अच्छा रखने के लिए -10°c एक सही तापमान होता हैं।

८.३ खाद्य पदार्थों का वितरण में रेफ्रिजरेशन का उपयोग:

खाद्य पदार्थ का वितरण में रेफ्रिजरेशन का इस्तेमाल सामान्य भाषा में बताया गया हैं। तैयार सब्जी को या अन्य कोइ खाद्य पदार्थ को एक स्थान से दूसरे स्थान तक पहुँचाना यानि की वितरण किया जाना बड़ा ही आवश्यक बन जाता हैं तो उसके लिए परिवहन करना पड़ता हैं। परिवहन के लिए ट्रेन, रेल या समुद्र से या फिर हवाई जहाज से करना होता हैं तो उसमे एयर तापमान बनाये रखने के लिए सामग्री से निर्धारित किया जाता हैं ताकि खाद्य पदार्थ ख़राब न हो और अच्छे से स्थनान्तर हो पाए इसके लिए रेफ्रिजरेशन बहुत ही लाभदाइ बन जाता हैं।

८.४ कम तापमान का रेफ्रिजरेशन:

अभी तरल नाइट्रोजन को बहुत ही ठंडा माना जाता हैं, तरल नाइट्रोजन का इस्तेमाल ईंधन के रूप में अंतरिक्ष उपयोग के लिए होता हैं। तरल नाइट्रोजन को प्राप्त करने के लिए हवा को तरलीकृत करना होता हैं तभी जाके तरल नाइट्रोजन को प्राप्त करना possible हैं। जिस विज्ञान में तापमान -100°c से -273°c तक प्राप्त किया हो उसको क्रायोजिनिक कहा जाता है। आम तोर पर किसी स्टील को सही आकार बनाने के लिए बहुत ही कम तापमान की आवश्यकता होती हैं।

अगर कार्बन डाइऑक्साइड गैस को कम दबाव में लाने से वो एक ठोस अवस्था (solid form) में परिवर्तित हो जाता हैं तो इसको सूखी बर्फ कहा जाता हैं। सूखी बर्फ का इस्तेमाल कृत्रिम (artificial) बारिश लाने के लिए और आइसक्रीम जैसे पदार्थों के परिवहन में ठंडा बनाए रखने के लिए किया जाता है।

८.५ एकात्मक इस्तेमाल:

प्रदर्शन कैबिनेट, वोक इन कुलर, रेफ्रिजरेटर, पानी का कूलर, बोतल का कूलर आदि को रेफ्रिजरेशन की आवश्यकता होती है।

९. रेफ्रिजरेशन प्रणाली का वर्गीकरण

प्रशीतन (रेफ्रिजरेशन) प्रणाली को मूल रूप से पांच प्रकार में विभाजित किया गया हैं जो नीचे बताया गया हैं। इसके बारे में अधिक जानकारी के लिए इसके बारे में अग्रिम (advance) पुस्तकों को पढ़ना आवश्यक हो जाता हैं।

९.१ एयर रेफ्रिजरेशन की प्रणाली:

एयर रेफ्रिजरेशन प्रणाली का इस्तेमाल विमान में किया जाता है। इसमें रेफ्रिजरन्ट के रूप में हवा का उपयोग किया जाता है। हवा को दबाया, ठंडा और विस्तारित किया जाता है ताकि यह ठंडा हो जाए और यह ठंडी हवा विमान से भार को हटा देती है और आवश्यक तापमान बनाए रखती हैं।

९.२ वेपर कम्प्रेशन की प्रणाली:

इस प्रणाली का इस्तेमाल व्यावसायिक में बड़े व्यापक रूप से उपयोग की जाने वाली साइकिल है। इसमें रेफ्रिजरन्ट का वाष्पीकरण (evaporation) और एक साथ किया गया कन्डेन्सेशन, जिस जगह को ठंडा (cool) करना हैं उसमे से आवश्यक भार को दूर करना या ठंड उत्पन्न करने के लिए उपयोग किया जाता है।

९.३ अब्सॉर्प्शन की प्रणाली:

यह एक ऊष्मा संचालित प्रणाली है, इस में प्रयुक्त रेफ्रिजरन्ट, एक साथ अवशोषित होता है और गर्म कर के निष्कासित करना पड़ता हैं। यह एक बहुत ही शांत प्रणाली है जिसमें कोई हिलता डुलता हुआ भाग, विशेष रूप से कम्प्रेसर नहीं है। यह प्रणाली बहुत ही सस्ती है जहां अपशिष्ट गर्मी बड़ी आसानी से प्राप्त हो जाती है।

९.४ स्टीमजेट की प्रणाली:

यह प्रणाली पानी को रेफ्रिजरन्ट के रूप में उपयोग करती है। पानी के वाष्पीकरण द्वारा आवश्यक ठंड प्राप्त की जाती है। इस प्रणाली में कंप्रेसर का उपयोग नहीं किया जाता है, लेकिन मोटिव भाप और विसारक (diffuser) की मदद से आवश्यक दबाव परिवर्तन प्राप्त किया जाता है।

९.५ लॉ टेम्परेचर की प्रणाली:

कम तापमान वाले प्रणाली को क्रायोजिनिक सिस्टम के रूप में जाना जाता है। बहुत ही कम तापमान का उत्पादन करने के लिए उच्च तापमान और कम तापमान वाले दो प्रणालियों में कैस्केड कंडेनसर सामान्य घटक (component) है। यह कम तापमान प्रणाली में एक कंडेनसर के रूप में और एक उच्च तापमान प्रणाली में एक वाष्पीकरण के रूप में कार्यशील है। इस तरह की सिस्टम जूल थॉमसन वाल्व में वायु द्रवीकरण का भी उपयोग किया जा सकता है।

१०. एयर कंडीशनिंग का इस्तेमाल कहा और कैसे होता हैं?:

१०.१ औद्योगिक के क्षेत्र में एयर कंडीशनिंग का उपयोग:

औद्योगिक क्षेत्र में एयर कंडीशनिंग का उपयोग होता हैं जैसे की फार्मास्यूटिकल्स, प्रयोगशालाएं, फोटो ग्राफिक स्टूडियो में, प्रिसीशन भाग में, टेक्ष्टाइल में, फार्मा पशु में, स्टील उद्योग में और प्रिन्टिंग प्लान्ट्स की संक्षेप में चर्चा नीचे दी गई हैं कृपया ध्यान दे:

  1. फार्मास्यूटिकल्स: हवा के साथ आने वाले बैक्टीरिया को हटाने के लिए प्लान्ट्स में एयर कंडीशनिंग बहुत ही आवश्यक हो जाता है। गोलियां और पिल्स की गुणवत्ता बनाये रखने के लिए और जिलेटिन कैप्सूल को बहुत ही शुष्क हवा की आवश्यकता होती है तो उसके लिए एयर कंडीशनिंग का आवश्यक होना बहुत ही जरूरी होता हैं। गोलियां और पिल्स को खुले में रखना नहीं चाहिए अगर खुले में रखा तो वो बिगड़ भी सकती हैं और ऐसा करना नहीं चाहिए।
  2. प्रयोगशालाएं: अलग अलग प्रयोगशाला में एयर कंडिशनिंग का उपयोग कुछ अलग तरीके से होता हैं। कुछ प्रयोगशालाओ में -60°c तापमान पर इंजन के प्रदर्शन की देखरेख के लिए भी एयर कंडिशनिंग जरुरी हैं और साथ ही साथ इसका उपयोग कार्यकर्ताओं की भलाई के लिए भी किया जाता हैं ताकि उसको काम करने में आसानी हो और गर्मी न लगे। प्रयोगशाला में ज्यादा experiments का काम होता हैं तो ज्यादा काम करने से थकान भी हो सकता हैं तो उसके लिए भी एयर कंडिशनिंग का होना बहुत ही ज्यादा आवश्यक बन जाता हैं।
  3. फोटोग्राफिक प्रोडक्ट्स: कच्चे फोटोग्राफिक पदार्थ अधिकतम तापमान और नमी की वजह से ख़राब हो जाता हैं तो फिल्म कोटिंग के लिए उपयोग की जाने वाली सामग्री को निश्चित तापमान चाहिए और वो एयर कंडिशनिंग से possible हो जाता हैं यानि की process हुए फिल्म को कम नमी वाले तापमान पर रखा जाना बड़ा ही आवश्यक होता हैं।
  4. प्रिसीशन भाग: अगर धातु का विस्तार (expansion) या संकुचन (contraction) से बचाना हैं तो इस के लिए कारखाने में एक स्थिर तापमान बनाना होता हैं और उसके लिए एयर कंडिशनिंग जरूरी हैं। स्वच्छ हवा अंदर आती हैं इस की वजह से नमी की निश्चित मात्रा में बनाये रखने से जंग नहीं होता और इकाइयों (units) में धूल की मात्रा को कम करता है।
  5. टेक्ष्टाइल: आधुनिक टेक्ष्टाइल प्लान्ट में प्लान्ट बहुत ही fast चलता हैं और इसलिए टेक्ष्टाइल की ताकत (strength) अधिक महत्वपूर्ण होती है। कागज की तरह कपडे भी नमी के प्रति बहुत ही संवेदनशील होते हैं। स्थैतिक(static) बिजली (electricity) का उत्पादन को रोकना बड़ा ही आवश्यक होता हैं और वो एयर कंडीशनिंग द्वारा ही संभव हैं।
  6. फार्मा पशु: अधिकतम गर्मियों के दौरान जानवरों को अगर कम तापमान में रखा जाये तो उनसे दूध और अन्य वस्तुओ की उपलब्धता बढ़ जाती है और वो एयर कंडिशनिंग से संभव हैं।
  7. स्टील की बनावट: स्टील की गुणवत्ता को अच्छा करने के लिए ब्लास्ट फर्नेस में प्रवेश करने से पहले हवा को सुखाना बहुत ही ज्यादा आवश्यक होता हैं इससे कोयले की खपत भी कम हो जाती हैं और यह सब प्राप्त करना एयर कंडीशनिंग से संभव हैं।
  8. प्रिन्टिंग: प्रिंटिंग प्लान्ट में नमी नियंत्रण एक बड़ा महत्वपूर्ण अंग होता हैं। बहु रंगा प्रिन्टिंग में सही से प्रिन्ट लेना बड़ा ही आवश्यक हो जाता हैं। यदि नमी को स्थिर नहीं रखा गया तो कागज ठीक से प्रिन्ट नहीं हो पाता क्योंकि कागज सिकुड़ जायेगा या लम्बा हो जायेगा और नमी से स्थैतिक बिजली(electricity) भी पैदा होती है तो इसे जानना बड़ा आवशायण बन जाता हैं।

१०.२ आराम (Comfort) के क्षेत्र में एयर कंडीशनिंग का उपयोग:

इसका प्रसार बहुत ही व्यापक (comprehensive) होता है। इसके महत्वपूर्ण उपयोग किन किन जगह में किया गया हैं वो नीचे बताया गया हैं:

  1. रेस्टोरन्ट्स: रेस्टोरन्ट्स में और थिएटर इसे ऐसे कई स्थानों में एयर कंडीशनिंग का होना आज के time अनिवार्य (compulsory) बन गया हैं। दिन के time अलग और रात या साम के time अलग अनुकूल हो एसा तापमान रखा जाता हैं।
  2. नौकरी की जगह: बैंक, टेलीफ़ोन एक्सचेंज, लाइब्रेरी आदि के लिए उपकरणों को और पुस्तकों को सही जगह रखने के लिए यानि की रखरखाव के लिए और मानव की भलाई के लिए भी एयर कंडीशनिंग की जरुरत होती हैं। इन सभी तरह के उपयोग में, आंतरिक स्थिति का निर्धारण करने के लिए आराम चार्ट का उपयोग किया जाता है जो किसी व्यक्ति को भलाई दे सकता है।
  3. निवास स्थान: दिन ब दिन आवासों (residences) के लिए एयर कंडीशनर की बिक्री (sale) बढ़ रही है। जो लोग ऑफ़िस में एयर-कंडीशनिंग के आदी हैं, वो लोग घर में भी एयर कंडिशनिंग उनकी आरामदायक यानि की बहुत अधिक गर्मी से बचने के लिए लगवाते हैं।
  4. बडी इमारतें: होटल, कार्यालय, अस्पताल आदि इस time वातानुकूलित (air conditioned) हैं और यह एक जरूरियात बन गई हैं।
  5. परिवहन: जहाज अब वातानुकूलित भी हैं। हवाई जहाजों में एयर कंडीशनिंग भी एक आवश्यकता बन गई है। गाड़ी, रेलवे, बसों आदि में एयर कंडीशनिंग का व्यापक उपयोग अब बढ़ गया है।
  6. दुकान: यदि दुकान में एयर कंडीशनिंग लगा दिया जाये तो श्रमिकों की दक्षता बढ़ जाती है, ग्राहकों की संख्या भी बढ़ जाती है और दुकानदार को अपनी दुकान में अधिक समय व्यतीत करने की यानि की काम करने की गति भी बढ़ जाती हैं और ग्राहक भी इस time वातानुकूलित दुकान या बड़े वातानुकूलित मॉल में जाने की इच्छा रखते हैं।

१०.३ चिकित्सा और स्वास्थ्य के क्षेत्र में एयर कंडीशनिंग का उपयोग:

रेफ्रिजरेशन दोनों का उपयोग करता है। क्रायोसर्जरी रक्तहीन सर्जरी के लिए बहुत ही लोकप्रिय है। आंखों की सर्जरी, कार्डियक सर्जरी आदि के लिए कम तापमान की आवश्यकता होती है। आधुनिक सर्जरी में, ऑपरेशन के दौरान मानव शरीर पर लगते शॉक को कम करने के लिए वातानुकूलित ऑपरेशन थियेटर का इस्तेमाल किया जाता है तो इससे स्वास्थ्य बड़े जल्दी से ठीक होता है और कोई problems नहीं होती। एक इलेक्ट्रॉन माइक्रोस्कोप में एक नमूने को तैयार करने के लिए फ्रीज करना बड़ा ही आवश्यक हो जाता है। मृत्यु के बाद या उससे पहले प्राप्त रक्त बैंक, आँख बैंक और मानव शरीर के कुछ अंगों को संरक्षित करने के लिए प्रशीतन(refrigeration) आवश्यक है।


2 thoughts on “Refrigeration and air conditioning | Definition Classification Useful”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *